Shree Keshariya Tirth

Shree Kesariyaji Tirth

 

 

श्री केसरियाजी तीर्थ

kesaria

मंदिर का दृश्य |


keshariya ji

मुलनायक भगवान

श्री आदिनाथ भगवान , अर्ध पद्मासनस्थ शयाम वर्ण, लगभग १०५ सें. मी .|


तीर्थ स्थल –

                                 ऋषभदेव ग़ाव में, पाहड़ो की ओंठ में (राजस्थान)|


प्राचीनता –

                                 इस मंदिर के बारे में कहा जाता है की मंदिर प्रथम ईटो का बना व बाद में पत्थरों का बना था | वि. सं. १८३१ में जिनोर्द्वार होने के प्रमाण मिलते है | उसके पश्चात भी जिनोद्वार होने के उल्लेख है | भवय, चमत्कारिक , भक्तो की मनोकामनाए पूर्ण करने वाली इस प्रतिमा की प्राचीनता व इतिहास के बारे में अनेको मानयताए है | उनमे यह भी एक है की यह अलौकिक प्रतिमा बीसवे तीर्थंकर श्री मुनिसुव्रत स्वामी भगवान के समय प्रतिवासुदेव लंकापति श्री रावण के यहां पूजित थी |


परिचय –

                                यह मारवाड़ में जैनों का मुख्य तीर्थ-स्थान है |यहा पर जैनेतर भी श्रद्धा व भक्ति पूर्वक हमेशा आते रहते है |भील समूदाय में प्रभु काला बाबा के नाम से प्रचलित है |यहां नई-नई चमत्कारिक घटनाओं का अनेको भक्तो द्वारा वर्णन किआ जाता है |भक्तगण जो भी भावनाए लेकर आते है उनकी ईच्छए पूर्ण होती है |यहा पर केशर चडाने की मानता सदीओ से चली आ रही  है व अतयाधिक् मात्रा में केशर चढ़ती है |इसलिए प्रभु को केशरीयानाथ कहा जाता है |

                                ग़ाव के बाहर वृश्क के निचे एक देहरी में प्रभु की प्राचीन चरणपादुकाए है |कहा जाता है प्रभु की प्रतिमा यही से प्रकट हुई थी |मेले के दीन प्रभु की रथयात्रा यही पर संपूर्ण होती है | प्रभु-प्रतिमा की कला तो अवर्णनीय है ही, प्रभु का मुखमंडल इतना आकर्षक है की दर्शन मात्र में मन प्रफूलित हो उठता है |श्री केशरीयाजी का यह बावन जिनालय दूर से ही अति ही सौम्य प्रतीत होता है |

* Jain Dharmshala at Kesariya Tirth *

Kikabhai Dharmshala

Hospital Road, Place & Post – Rishabh Dev, Tal. Khairwara, District – Udaipur, Rajasthan –313802

Contact : 02907 230 536